40 Best Dhokebaaz Shayari in Hindi | धोखेबाज शायरी हिंदी में

प्यार में धोखा? दोस्ती में फरेब? शायरी करो बेबाक अंदाज में!

क्या आप प्यार या दोस्ती में मिले धोखे से अभी भी जूझ रहे हैं? या फिर धोखेबाज़ की करतूतों को शायरी के तीखे तीरों से जवाब देना चाहते हैं? तो फिर आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं! 

आज का ये ब्लॉग खास है उन दिलों के लिए जिन्हें धोखे ने झकझोर कर रख दिया है। यहाँ आपको मिलेंगे "धोखेबाज शायरी" के वो शेर, जिनमें आप अपने दर्द को बाया करेगे बल्कि गुस्से को भी बयां कर सकेंगे। 

चाहे वो झूठे वादों का जख्म हो या बेवफाई की आग, ये शायरी आपके जज़्बात को शब्द देगी। तो देर किस बात की? आइए पढ़ते हैं ये दिल छू लेने वाली dhokebaaz Shayari in Hindi और बताइए अपना पक्ष दुनिया को!

Table of Contents

Dhokebaaz Shayari in Hindi 

Dhokebaaz Shayari in Hindi

1. मोहब्बत भी इतनी शीद्दत से करो कि, वो धोखा दे कर भी सोचे के वापस जाऊ तो किस मुंह से जाऊ।

2. तेरी वफाओं का अंजाम ये निकला, तूने प्यार का मतलब ही बदल डाला।

3. तुम्हारे जूठे वादों का अब हमे ऐतबार नहीं, धोखे ने सिखाया हमें, इस दुनिया में प्यार का मतलब बहुत खास नहीं।

4. धोखा बहुत मिल गया है, अब मुझे मौके की तलाश है।

5. धोखा खाया है तेरे प्यार में, अब सिर्फ़ दर्द है मेरे इज़हार में।

6. धोखा खाकर सब कुछ खो बैठा, अब विश्वास किस पर करूं मैं।

7. दिल करता हैं धोखे से जहर दे दूँ, सभी ख्वाहिशो को दावत पर बुलाकर।

8. तेरे झूठे वादों का सच ये है, दिल को तोड़ने में तुझे मज़ा ये है।

9. चेहरे पर मुस्कान और दिल में धोखा, इस जिंदगी की अजब कहानी है।

10. उम्मीदों के सहारे जी कर खुदको धोखा देता हूँ, कोई माँगे अग़र नफरत भी तो मोहब्बत बेशुमार देता हूँ।

Dhokebaaz Shayari 2 Line

11. धोखेबाज तुझसे दिल लगाया, अब हर लम्हा तन्हाई में बिताया।

12. धोखा मिला है, तो भूल जाओ उसे, जिन्दगी को आगे बढ़ाने में लग जाओ।

13. ज़िंदगी में जितने धोखे मिलते हैं, उतने मौके कभी नहीं मिलते।

14. तेरी मोहब्बत में धोखा खाया, अब तुझसे क्या रिश्ता निभाया।

15. समझदार हूँ, अब धोखेबाज़ों का कोई स्थान नहीं इस दिल में।

16. धोखा देती है मासूम चेहरों की चमक अक्सर हर कांच के टुकड़े को हीरा नहीं समझते।

17. धोखेबाज तुझसे दिल लगाया, अब हर साँस ने दर्द पाया।

18. धोखे की गहराई में गुम हैं हम, पर अब तक समझ नहीं पाएं हम कि वफ़ा क्या है।

19. उनके प्यार में अधूरे रह गए हम कैसे बताए हम सबको कि, प्यार में धोखा खा गए हम तु निकला छुपा रुस्तम।

20. तेरे वादों का ऐतबार अब न रहा, धोखेबाज तेरा चेहरा अब याद न रहा।

Dhokebaaz Shayari Love

21. हसीन वादों में छुपाए थे धोखे, प्यार का नाटक रचाया तुमने,  दिल दिया हमने बेखबर होकर, जख्म गहरे देकर चले गए तुमने।

22. मोहब्बत की डोर को तुमने झूठ से कमज़ोर किया, कसमों का वादा टूट गया, धोखे का रिश्ता बना दिया।

23. आँखों में झूठ का समंदर समेटे, मीठी बातों का जाल बिछाया, प्यार का दिया जलाया, फिर बेवफाई की हवा से बुझाया।

24. दिल की पवित्रता को तुमने धोखे की आग में जलाया, जख्म इतना गहरा दिया, शायद ना कभी भर पाए।

25. प्यार का नाटक रचा के, दिल को तुमने तड़पाया, चाहतों को हवा में उड़ा दिया, धोखे का ये खेल रचाया।

26. तेरे झूठे प्यार में गुलाम बनकर जिए, दुनियादारी का पाठ ना पढ़ा पाए, धोखे का पता चला तो सब बेकार हो गया।

27. इश्क़ किया था सच्चे दिल से, पर मिला धोखा का सिला, अब किसी पर भी यकीन करना, लगता है ये बेवकूफी का सिला।

28. प्यार की कसमों को तुमने हवा में उड़ा दिया, जो रिश्ता दिल से जोड़ा था, उसे धोखे से तोड़ दिया।

29. तेरे जाने के बाद ये एहसास हुआ, प्यार का मतलब धोखा खाना है, अब तन्हाई ही अच्छी लगती है, किसी को अपना बनाने का इरादा नहीं।

30. दर्द है दिल में, आँखों में नमी है, धोखे से मिला प्यार, जिंदगी की ये कमी है।

Dhokebaaz Shayari Dosti 

31. दोस्ती के नाम पर जहर घोला, यारी का वादा झूठा निकला, दर्द तो ये है कि तू सामने बैठा है, मगर दिल से बहुत दूर निकला।

32. "हमने एक-दूसरे का साथ देने की कसम खाई थी, मुसीबत के वक्त तू पीछे हट गया। अब जाकर तेरी दोस्ती समझ में आई, बस मतलब का सौदा!

33. बातें मीठी, हर वक्त तारीफें, ये तेरा बनाया था फरेब, असली रंग तब दिखाए, जब ज़रूरत पड़ी मुझे मदद का तलब।

34. राज़ दिल के बताए थे तुझे, तूने ही सरेआम सबको सुना दिए, ये कैसी दोस्ती है तेरी, जिसने भरोसे के धागे जला दिए।

35. वक्त के साथ बदल गए रंग तेरे, यारी का दावा अब झूठा लगता है, शायद सच्ची दोस्ती होती नहीं है, ये ज़िंदगी का एक सबक सिखाता है।

36. कंधे से कंधा मिलाकर चलने की कसम खाई थी, पर तूने रास्ता मोड़ लिया, अपनी मंजिल की तरफ भागने की जल्दी में।

37. हँसी-खुशी के पलों में तू साथ था, गम के साये में तू दूर चला गया, ये कैसी दोस्ती है तेरी, जो सिर्फ खुशियों का मेहमान बना।

38. दुश्मन से भी खतरनाक होते हैं, ऐसे धोखेबाज़ दोस्त, जो मीठे बोल बोलकर, देते हैं यारी के रिश्ते को धोखा।

39. समझा था यारी का रिश्ता पवित्र होता है, पर तूने आँख खोल दी, दुनिया में मतलब के रिश्ते ज़्यादा होते हैं, सच्ची दोस्ती कम मिलती है।

40. चलेगा अब सफर अकेले, किसी को अपना हमराज़ न बनाएंगे, धोखेबाज़ दोस्ती के ग़म से अब, खुद को ही संभालेंगे।

निष्कर्ष:

प्यार हो या यारी, धोखे का दाग गहरा होता है। इस ब्लॉग में हमने आपके लिए उन्हीं धोखेबाज़ों के लिए शायरी का सहारा दिया है। तो फिर देर किस बात की, दिल की बात शायरी में कहिए और दुनिया को बताइए कि आप धोखे से टूटे नहीं, बल्कि और मजबूत हुए हैं! 

Rupon Engti

Rupon Engti is a passionate writer with a deep love for Hindi shayari and Quotes. He dedicated to share हिंदी शायरी to their audience and motivate them. More...

Previous Post Next Post